Sun. Dec 4th, 2022

गर्भवती की मौत, अपराध छिपाने के लिए ससुराल वालों ने ढोल वाले से श्मशान में कराया पोस्टमार्टम

Share

जबलपुर. शव का पोस्टमार्टम किसी डॉक्टर या डॉक्टर की निगरानी में मेडिकल स्टाफ का करना तो आम बात है लेकिन श्मशान घाट में ढोल बजाने वाला ब्लेड की मदद से किसी शव का अवैध रूप से पोस्टमॉर्टम करे तो हर किसी का हैरान होना लाजिमी है. 21 वीं सदी के भारत में पिछड़ेपन की यह शर्मनाक तस्वीर देखने को मिली है. जबलपुर के पनागर इलाके में ससुराल वालों ने श्मशान घाट में ही मृतक गर्भवती नवविवाहिता का पोस्टमार्टम करवा दिया. हैरानी की बात तो यह है कि शव यात्रा में ढोल बजाने वाले ने पोस्टमॉर्टम के नाम पर हाथों में ब्लेड लेकर नवविवाहिता का पेट ही फाड़ दिया.

जुर्म छुपाने के इरादे से ससुराल वालों ने न केवल सरकारी तौर पर होने वाले पोस्टमार्टम से इंकार कर दिया, बल्कि इस काम को ढोल बजाने वाले के जरिए करवा डाला. श्मशान घाट में ससुराल वालों की मौजूदगी में मृतक गर्भवती महिला के पोस्टमार्टम का बकायदा वीडियो भी बना. जो अब सामने आया है. जिसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि ढोल बजाने वाला शख्स मृत गर्भवती महिला का पेट ब्लेड से फाड़ रहा है और उसमें से मृत नवजात को बाहर निकाल रहा है.

शमशान घाट में कर दिया मृत महिला का पोस्टमार्टम
दरअसल जबलपुर के पनागर में रहने वाली राधा लोधी की 17 सितंबर को संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी. जिसकी खबर परिवार वालों को लगने के बाद उन्होंने राधा के ससुराल में पहुंचकर मौत के कारणों को जानने की कोशिश की, लेकिन ससुराल वालों ने किसी भी प्रकार की जानकारी देने से न केवल इंकार कर दिया बल्कि वे सरकारी स्तर पर पोस्टमार्टम कराने से भी बचते रहे. अवैध रूप से श्मशान घाट में पोस्टमार्टम कराने के बाद मृत महिला और उसके बच्चे का अंतिम संस्कार किया गया.

जानकारी के मुताबिक बरेला के पड़वार की रहने वाली राधा लोधी की शादी 24 अप्रैल 2021 को पनागर के गोपी पटेल के साथ हुई थी, आरोप है कि शादी के बाद से ही राधा को ससुराल वाले प्रताड़ित कर रहे थे. जिसकी खबर उसने कई बार अपने परिजनों को भी दी थी. मायके पक्ष का आरोप है कि मौत के एक दिन पहले भी राधा का अपने ससुराल वालों से विवाद हो गया था. परिजनों ने पूरे मामले की गहराई से जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.