Wed. Feb 24th, 2021

उज्जैन की विक्रम यूनिवर्सिटी में कुलसचिव के सामने भिड़े दो प्रोफेसर; जमकर चले लात-घूंसे

उज्जैन. मध्यप्रदेश में उज्जैन की विक्रम यूनिवर्सिटी में शुक्रवार की शाम बेहद शर्मनाक वाकया सामने आया। यहां MBA के HOD और पूर्व HOD के बीच जमकर मारपीट हुई। एक दूसरे को इतने लात-घूंसे लगे कि दोनों ही लहूलुहान हो गए। दोनों के बीच कुलसचिव के सामने उनके कमरे में ही बहस शुरू हुई थी, जो बाहर आते ही मारपीट में बदल गई।
बाद में कुलपति के सामने भी दोनों जमकर बहस करने लगे, तो कुलपति ने उन्हें कड़ी फटकार लगाई। स्थानीय विधायक और उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि मामले में जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

एडमिशन को लेकर भिड़े थे प्रोफेसर
यूनिवर्सिटी के MBA विभाग के पूर्व प्रमुख कामरान सुल्तान यूनिवर्सिटी से ही LLM की पढ़ाई करना चाहते हैं, लेकिन मौजूदा HOD डॉ. डीडी बेदिया नहीं चाहते कि प्रो. कामरान को इसमें एडमिशन मिले। इस बात पर दोनों के बीच अक्सर कहासुनी होती रहती है। शुक्रवार शाम को 6 बजे इसी विवाद में दोनों कुलसचिव के कमरे में भिड़े। हाथापाई में बेदिया के कपड़े फट गए, जबकि कामरान का चेहरा लहूलुहान हो गया।

दोनों प्रोफेसरों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए
प्रोफेसर बेदिया ने आरोप लगाया कि कामरान ने उनके कपड़े फाड़ दिए और नाखून से हमला किया। इधर, प्रोफेसर कामरान ने कहा, ‘बेदिया ने पहले मेरे चेहरे और गाल पर हमला किया। यह जानते हुए कि मैं दिव्यांग हूं, उन्होंने मेरी एक नहीं सुनी।’

LLM की पढ़ाई सिर्फ बहाना, असली लड़ाई HOD की
प्रो. बेदिया और प्रो. कामरान के बीच लड़ाई नई नहीं है। इनके बीच पूर्व कुलपति बालकृष्ण शर्मा के समय से यही स्थिति है। प्रो. कामरान का LLM में एडमिशन लेना प्रो. बेदिया को उतना नहीं अखर रहा है जितना HOD का पद फिर से पाने के लिए प्रो. कामरान का लगातार कोशिश रहना। दरअसल, प्रो. कामरान पूर्व कुलपति शर्मा के कार्यकाल में MBA डिपार्टमेंट के एचओडी थे। उन्होंने प्रो. कामरान को हटाकर प्रो. बेदिया को HOD बना दिया। नए कुलपति डॉ. कुलदीप पांडेय ने बेदिया को इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट का भी HOD और हॉस्टल इंचार्ज बना दिया। इसी बात को लेकर दोनों प्रोफसरों में आपसी विवाद जारी है। मौजूदा HOD प्रो. बेदिया के क्लास में नहीं आने पर उन्हें टोकना भी दोनों के बीच विवाद की वजह बना।

कुलपति ने जांच कमेटी बनाई
प्रो. डीडी बेदिया और प्रो. कामरान के बीच मारपीट की घटना को कुलपति डॉ. कुलदीप पांडेय ने दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि वे खुद इस पर शर्मिंदा हैं। उन्होंने बताया कि बेदिया को इंजीनियरिंग और हॉस्टल वार्डन पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। इसके बाद प्रो. बेदिया ने शनिवार सुबह यूनिवर्सिटी पहुंचते ही MBA डिपार्टमेंट के HOD पद से इस्तीफा दे दिया। मामले की जांच के लिए कमेटी बनाई गई है।

एक महीने तक रोज हाजिरी लगाएंगे ​​​​​​दोनों प्रोफेसर
दोनों प्रोफेसरों को नोटिस जारी किए गए हैं। अगले एक महीने तक उन्हें सुबह-शाम कुलपति या कुलसचिव के ऑफिस जाकर साइन करने होंगे। इधर कुलपति ने बताया कि छात्रों ने शिकायत की है कि ये दोनों प्रोफेसर क्लास में भी नहीं जाते हैं। इस पर भी कार्रवाई की जा रही है।

छात्र संगठनों ने प्रोफेसरों पर कार्रवाई की मांग की
घटना को लेकर शनिवार को ABVP और NSUI ने कुलपति से मिलकर दोनों प्रोफेसरों पर कार्रवाई की मांग की है। ABVP ने घटनास्थल को पानी से धोकर नाराजगी जाहिर की। वहीं, NSUI ने यूनिवर्सिटी से कड़ी कार्रवाई की मांग की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *