Fri. Apr 16th, 2021

MP : हम सोते रह गए वो लाखों के गहने, कैश समेटकर प्रेमी के साथ भाग गई

भिंड.  एक धोखेबाज पत्नी  अपने दो मासूम बच्चों, पति, ननद, सास-ससुर सहित 10 लोगों को खाने में नींद की हैवी डोज देने के बाद महिला प्रेमी के साथ भाग गई। रेशमा, घर की अलमारी से करीब 15 तौला सोना, 3 लाख रुपए नकद भी ले गई है। परिवार के 10 सदस्य ग्वालियर के JAH में इलाज करा रहे हैं। घटना से सबसे ज्यादा आहत रेशमा के दो बच्चे और पति है। पति जावेद का कहना है कि उसने इतने प्यार से कभी खाना नहीं खिलाया जितना शनिवार रात को खिला रही थी। पूरी-सब्जी में नींद की हैवी डोज मिलाई थी। खाना खाने के बाद किसी को होश नहीं था। वो हमें मौत की नींद सुलाना चाहती थी। महिला की दो शादी हो चुकी है। जिसके साथ वह भागी है उसका नंबर तीसरा है। रिश्ते में वह उसका ननदोई लगता है।

यह है पूरी घटना
शनिवार रात 8 बजे भिंड के बरासों निवासी 60 वर्षीय मुंशी खान के घर में बहू रेशमा पत्नी छोटू उर्फ जावेद खान ने पूरी सब्जी बनाई थी। बिना त्योहार के हलवा व पूरी सब्जी पर सभी को हैरत तो हुई थी, लेकिन बहू ने बनाई और प्यार से परोसी तो सभी ने खूब पेट भरकर खाई। रविवार सुबह जब पड़ोसी में रहने वाला चचेरा भाई नूर मोहम्मद खान अपने मुंशी के घर पहुंचा तो अंदर का नजारा दिल दहला देने वाला था। अंदर घर में चाचा मुंशी खान, चाची मेहमूदन बेगम सहित 10 लोग बेहोश पड़े थे। बच्चों के मुंह से झाग निकल रहा था। घर की बहू रेशमा उसका छोटा बेटा जीशान गायब थे। तत्काल नूर मोहम्मद से अन्य रिश्तेदारों को बुलाया और उनको अस्पताल पहुंचाया। वहां जहर खुरानी का पता लगा। हालत गंभीर थी तो तत्काल सभी 10 सदस्यों को ग्वालियर रैफर कर दिया गया। ग्वालियर के JAH में उनका इलाज चल रहा है। कुछ की हालत गंभीर है। घर की छानबीन की तो रेशमा 15 तौला सोना, 3 लाख रुपए नकद भी ले गई है। वह अपने प्रेमी ननदोई लोहकन खान निवासी अहरोली थाना अटेर के साथ भागी है।

प्यार में बने रोडा, तो रास्ते से हटाने की रच दी साजिश
35 वर्षीय रेशमा का अपने ननदोई लोहकन खान से काफी मेल जोल था। यह मेल मिलाप उस समय बढ़ा जब रेशमा के पहले पति की 4 साल पहले मौत हुई। उस समय लोहकन का घर आना जाना शुरू हुआ तो दोनों के बीच एक अनजाना रिश्ता पनप गया। रेशमा के मायके और ससुराल पक्ष ने उसकी शादी पति के ही छोटे भाई छोटू उर्फ जावेद खान से कर दी। सोचा रेशमा के दो बच्चों का पालन पोषण चाचा पिता बनकर करेगा। रेशमा ने उस समय तो शादी कर ली, लेकिन उसके मंसूबे कुछ और थे। जब उसके ननदोई से प्रेम का राज खुला तो घर वालों ने उसके बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी। जब पूरा परिवार प्यार में रोड़ा बना तो उसने शनिवार की रात सभी को रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली।

ज्यादातर समय देखती थी क्राइम इंवेस्टीगेशन सीरियल
रेशमा के बारे में पता लगा है कि वह अक्सर TV पर आने वाले क्राइम इंवेस्टीगेशन सीरियल देखती रहती थी। उसकी कहानी भी किसी सीरियल से कम नहीं थी। हो सकता है जिस तरह उसने सबको खाने में नींद की दवा मिलाकर भागने का कारनामा किया है वह किसी सीरियल की कहानी से ही सीखा हो।

पूरी सब्जी खाने से इनकी जान पर बन आई
रेशमा के हाथ का खाना खाने के बाद उसके ससुर मुंशी खान, सास मेहमूदन बेगम, चचिया सास गुड्‌डी, देवर इलियास, देवरानी निशा, बेटा कामिल, बेटी आफरीन, पति जावेद उर्फ छोटू, देवर रियाजउद्दीन, ननद अहाना की जान पर बन आई थी। यदि कुछ देर और इलाज नहीं मिलता तो इनमें से कुछ की जान जाना पक्का था।

छोटे बेटे को साथ ले गई
रेशमा घर से नकदी और गहने समेटकर भागने से पहले छोटे बेटे जीशान काे साथ ले गई है। जीशान अभी 3 साल का है। यह उसकी जावेद से दूसरी शादी के बाद हुआ था। जीशान को वह काफी चाहती थी। दो बच्चों कामिल और आफरीन जो मां-मां कहते नहीं थकते थे, उनका ख्याल नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *