Wed. Jan 27th, 2021

MP : कुर्सी पीछे मिली तो भड़कीं प्रज्ञा ठाकुर; CM शिवराज के आने से पहले कार्यक्रम से चली गईं

भोपाल। राजधानी में शुक्रवार को भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस पर भाजपा के जिला कार्यालय में नवनिर्मित ‘अटल भवन’ का लोकार्पण CM शिवराज सिंह चौहान ने किया। इसी कार्यक्रम में कुर्सी पीछे मिलने पर भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर भड़क गईं और CM शिवराज के कार्यक्रम में पहुंचने से पहले ही चली गईं।
भाजपा के जिला कार्यालय के नए भवन के उद्घाटन पर भाजपा कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा। ज्यादातर के चेहरे पर मास्क नहीं था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया। भाजपा के जिला कार्यालय के नए भवन के उद्घाटन पर भाजपा कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा। ज्यादातर के चेहरे पर मास्क नहीं था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया। सांसद प्रज्ञा ठाकुर इससे पहले अटल जी की प्रतिमा के उद्घाटन के दौरान CM शिवराज, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, मंत्री विश्वास सारंग, संगठन मंत्री सुहास भगत और अन्य भाजपा नेताओं के साथ मौजूद थीं। कार्यक्रम के बाद ही पुराने शहर में इमामी गेट स्थित भाजपा के नवनिर्मित भवन के लोकार्पण समारोह में सभी नेताओं को पहुंचना था। इसमें सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर भी शामिल थीं। वह कार्यक्रम में पहुंचीं, लेकिन मंच पर उन्हें पीछे की कतार में कुर्सी दी गई, इससे वह भड़क गईं। उन्होंने बैठने से इनकार कर दिया। स्थानीय भाजपा नेताओं ने उन्हें मनाने की कोशिश की, लेकिन वह कार्यक्रम में CM शिवराज के पहुंचने से पहले ही रवाना हो गईं।

नेताओं की सभा के लिए कोरोना नहीं
भाजपा के जिला कार्यालय में नवनिर्मित ‘अटल भवन’ का लोकार्पण CM शिवराज सिंह चौहान ने किया। इस दौरान इमामी गेट से जुमेराती तक हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता और लोग एकत्र हो गए। इनमें ज्यादातर लोगों के चेहरे पर मास्क नहीं था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। सवाल ये है कि क्या नेताओं की सभा के लिए, जिसमें खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौजूद हों, वहां कोरोना को लेकर एहतियात नहीं बरता जाना चाहिए।

‘अटल भवन’ एक भवन है और कार्यकर्ता आत्मा
सीएम शिवराज ने कहा कि यह ‘अटल भवन’ एक भवन है और कार्यकर्ता उसकी आत्मा है। यह सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को क्रियान्वित करवाने का केंद्र बने। जनता को अगर कोई तकलीफ हो तो वो कार्यालय में बेधड़क आएं और उनकी तकलीफ दूर की जाए। इसके लिए हर वॉर्ड में 11 लोगों की दीनदयाल समिति बनेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *