Mon. Jun 14th, 2021

MP में BJP की पहली बार प्रदेश कार्यसमिति सदस्यों की जाति के साथ लिस्ट जारी

भोपाल. मध्यप्रदेश भाजपा ने मंगलवार देर रात अपनी प्रदेश कार्यसमिति घोषित कर दी। इसमें पहली बार पदाधिकारियों के नाम के आगे उनकी जाति लिख दी गई। लिस्ट सोशल मीडिया पर जारी की गई थी, लेकिन विवाद होते ही 10 मिनट बाद इसे हटा लिया गया। इसके बाद रात 12:45 बजे पदाधिकारियों की जाति हटाकर संशोधित लिस्ट जारी की गई।

इसमें सिंधिया के कुछ समर्थकों को भी एंट्री दी गई है। ऐसा पहली बार हुआ, जब किसी पदाधिकारी के नाम के आगे उसका वर्ग, जाति का उल्लेख किया गया। इसमें कुछ नेताओं की जाति ही गलत लिख दी गई। जैसे- भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय वैश्य हैं, लेकिन उनके नाम के आगे ब्राह्मण लिखा हुआ था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया की भी जाति गलत लिखी गई थी।

बताया गया है कि भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया बुधवार को भोपाल आ रहे हैं। इसी को लेकर आनन-फानन में कार्यसमिति तय कर लिस्ट जारी कर दी गई। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता लोकेंद्र पाराशर का कहना है कि पहली लिस्ट गलती से जारी हो गई थी, उसे सुधार कर दोबारा जारी किया गया है।

ऐसी है प्रदेश कार्यसमिति
प्रदेश कार्यसमिति में 162 सदस्य, 218 विशेष आमंत्रित सदस्य, 23 स्थाई आमंत्रित सदस्य हैं। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का नाम नहीं है। स्थाई आमंत्रित सदस्यों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत, केंद्रीय मंत्री नरेद्र सिंह तोमर, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, सुमित्रा महाजन, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद प्रधान, ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, केंद्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे विक्रम वर्मा, सत्यनारायण जटिया और प्रभात झा को शामिल किया गया है।

इसके साथ ही लिस्ट में सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, गृह एवं संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा​​​​ और लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव समेत पूर्व मंत्री लाल सिंह आर्य, ओमप्रकाश ध्रुवे, सांसद सुधीर गुप्ता, पूर्व मंत्री माया सिंह, जयभान सिंह पवैया, कृष्ण मुरारी मोघे, माखन सिंह और भगवत शरण माथुर को शामिल किया गया है। पिछली कार्य समिति में सदस्य रहे पूर्व जिला अध्यक्ष सुरेंद्रनाथ सिंह को इस बार इस लिस्ट में जगह नहीं मिली है, जबकि भोपाल के पूर्व जिलाध्यक्षों को शामिल कर लिया गया है।
पहले जारी की गई लिस्ट में CM शिवराज सिंह चौहान की जाति धाकड़, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की जाति राजपूत और कैलाश विजयवर्गीय की जाति ब्राह्मण लिखी गई थी। जातियों के साथ लिस्ट जारी करने पर भाजपा घिरती नजर आई। इसके बाद इस लिस्ट को डिलीट कर दिया गया। लिस्ट में नेताओं की गलत जाति लिखी होने पर भाजपा बैकफुट पर नजर आई यह लिस्ट मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने जारी की थी। बीजेपी कार्यकारिणी की संशोधित लिस्ट रात 12:45 बजे के बाद फिर से जारी हुई। इस बार लिस्ट से जाति हटा दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *