Fri. Sep 30th, 2022

शादी से इनकार करने पर बेटी को गोली से उड़ाया 

सागर। जिले के बहरोल थाना क्षेत्र के झारई गांव में शादी से इनकार करने पर बेटी की हत्या मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस के मुताबिक, मृत छात्रा अंकिता उर्फ अंकू फोन पर लगातार किसी से बात करती थी। आरोपी पिता ने अंकिता को कई बार फोन पर बातें करते देखा था। वे अंकिता को टोकते भी थे लेकिन अंकिता लगातार पिता की बातों को इग्नोर कर रही थी। सोमवार सुबह भी आरोपी पिता और अंकिता की मां के बीच इस बात को लेकर बहस हुई। इस बीच वहां पहुंची अंकिता ने पिता अशोक से अभद्रता की जिसके बाद आरोपी ने अपनी बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी।

उधर, आरोपी को पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जिसके बाद उसे जेल भेज दिया गया। एडिशनल एसपी विक्रम सिंह कुशवाहा ने बताया कि अंकिता उर्फ अंकू घर में रहकर फोन पर किसी से अक्सर बात करती रहती थी, जो पिता को ठीक नहीं लगता था। वहीं, अंकिता शादी नहीं कर रही थी। आरोपी बेटी के इस व्यवहार से खफा रहता था। सोमवार को विवाद के दौरान आरोपी पिता ने ये बातें दोहराई तो अंकिता ने पिता से अभद्रता की। बेटी के व्यवहार से गुस्साए पिता ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

हत्या के बाद लाश के पास बैठा रहा पिता
एडिशनल एसपी ने बताया कि बेटी की हत्या के बाद आरोपी शव के पास कुछ देर तक बैठा रहा। सूचना के बाद उसे घटनास्थल से गिरफ्तार किया गया। उसे बेटी की हत्या का जरा भी अफसोस नहीं है। विक्रम सिंह ने बताया कि फोन पर बात करने को लेकर विवाद के बाद जब बेटी अभद्रता कर किचन में चली गई तब आरोपी पिता भी पीछे से 12 बोर की बंदूक लेकर किचन में गया और बेटी पर बंदूक तान दी। ट्रिगर दबाने से पहले भी आरोपी ने कहा कि न जाने किससे बातें करती है।

सोमवार सुबह करीब 8 बजे मृतका की मां पुष्पलता वैश्य आंगन में पौधे लगा रही थी। अशोक वैश्य (69) ने पौधे लगाने से मना किया। थोड़ी देर बाद वाद- विवाद के बीच बेटी की शादी की बात आ गई। इसी बात पर दोनों के बीच बहस शुरू हुई, तभी बेटी अंकिता उर्फ अंकू वैश्य (30) बीच में आ गई। अंकिता ने इस दौरान पिता से अभद्रता की। इससे गुस्साए पिता अशोक सिंह अंदर बंदूक लेने चले गए। उधर, पिता का गुस्सा देख अंकिता किचन में चली गई। फिर अशोक किचन में पहुंचा और बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी।

भोपाल से पढ़ाई कर रही थी अंकिता
अंकिता भोपाल के कॉलेज में बीफार्मा की पढ़ाई कर रही थी। कोरोना काल में लॉकडाउन के बाद कॉलेज बंद होने से अपने गांव झारई में रह रही थी। अशोक अंकिता की शादी करना चाह रहे थे। वह लड़का देख रहे थे, लेकिन बेटी शादी नहीं करने की जिद कर रही थी। अशोक की अंकिता समेत तीन बेटियां और एक बेटा है। ग्रामीणों के अनुसार, अशोक किसान है। घटनाक्रम के दौरान अंकिता का भाई, चाचा व अन्य सदस्य रिश्तेदार के घर शादी समारोह में शामिल होने गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.