Tue. Oct 4th, 2022

MP : मकान की खुदाई में निकला खजाना, घड़े में रखे थे 14 लाख के सिक्के

इंदौर। पुराने मकान की खुदाई के दौरान मजदूरों और ट्रैक्टर के मालिक तांबे के घड़े में गड़ा हुआ खजाना मिला है। घड़े में प्राचीन काल के सिक्के भरे हुए थे। पुराने सिक्के देख कर ट्रैक्टर मालिक का लालच आ गया। उसके बाद बिना किसी को जानकारी दिए ट्रैक्टर मालिक उस खजाना को लेकर अपने घर चल गया। लेकिन पुलिस को इस बात की जानकारी मुखबिर से मिल गई है। उसके बाद ट्रैक्टर मालिक के घर पर छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान उसके घर घड़ा बरामद कर लिया गया है।

दरअसल, पुराने मकाने के नीचे यह खजाना गड़ा हुआ था। घड़ा भी तांबे का है। पुराना होने की वजह से घड़े की कीमत भी हजारों में हैं। इस घड़े में चांदी के पुराने सिक्के भर कर रखे गए थे। घड़े को देख कर मजदूरों ने इसकी सूचना ट्रैक्टर मालिक कैलाश धनगर को दी थी। कैलाश धनगर मौके पर पहुंचा और तांबे की घड़े को अपने घर लेकर चला गया। उसने इसकी जानाकारी किसी को नहीं दी।
घड़े में लाखों का खजाना रखा हुआ था। पुलिस की टीम ने कैलाश धनकर के घर से घड़ा और चांदी के सिक्के को बरामद कर लिया है। सिक्कों का वजन कुल 27 किलो 300 ग्राम है, जिनकी बाजार में कीमत लगभग 14 लाख है। सिक्कों पर प्राचीन मुगल और अरबी भाषा में लिखा हुआ जो संभवतः प्राचीन काल के ही है।

एसडीओपी रेखा यादव ने बताया कि झण्डा चौक पर एक पुराने मकान को गिराने का काम चल रहा था। वहां, एक घड़े में चांदी के सिक्के मिले हैं। ट्रैक्टर मालिक ने बिना किसी को जानकारी दिए, इसे घर में छुपा लिया। मुखबिर की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने कुल चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आगे की जांच की जा रही है।

पुरातात्विक काल के हैं सिक्के
मामले में कैलाश धनगर के खिलाफ आईपीसी की 1878 के तहत 4 और 20 के तहत कार्रवाई की गई है। पुलिस ने कहा कि सभी सिक्के पुरातात्विक काल के हैं। शुरुआत में कैलाश पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रहा था। जब सख्ती से पूछताछ की गई, तो उसने सिक्के मिलने की बात कबूली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.