Sat. Oct 23rd, 2021

हर संकट की काट हैं ये शक्तिशाली मंत्र, प्रतिदिन जाप करने से घर में आएगी खुशहाली

नई दिल्ली। ‘जहां दो बर्तन होंगे वहां आवाज तो आएगी ही’ ये कहावत ​तो आप सब ने सुनी होगी। इस कहावत का मतलब है कि एक छत के निचे जब दो लोग रहेंगे तो थोड़ी नोंक झोंक तो होगी ही, लेकिन कभी-कभी ये छोटे मोटे झगड़े बड़े तनाव का कारण बन जाते हैं जिससे रिश्ता टूटने तक की नौबत आ जाती है।

लड़ाई-झगड़े ​हर घर में ​होते रहते हैं, लेकिन अधिकतर घरों में देखने को मिलता है कि अक्सर घर के सदस्यों में मतभेद होते रहते हैं जिससे रिश्ते टूटने की कगार पर आ जाते हैं। अगर आप अपने घर में होनें वाले रोज रोज के झगड़ों से परेशान हैं तो इसका उपाय भी हमारे हिंदू ग्रंथों में दिया गया है।

हिंदू पुराणों के अनुसार हमारे प्राचीन ग्रंथों में हर समस्या का हल दिया हुआ है। अलग-अलग तरह के मंत्रों का जाप कर के आप अपनी ​कई तरह की मुश्किलों का हल निकाल सकते हैं। घर में लड़ाई झगड़ों की ऐसी हालतों में घर का कोई एक पक्ष भी अगर इन मंत्रों का जाप करें तो घर में शां​ति का माहौल बन स​कता है।

हिंदू धर्म में इसलिए किया जाता है भगवान की पूजा में तांबे के बर्तन का इस्तेमाल

घर में शांति के लिए मंत्र
मंत्र: धां धी धूं धूर्जटे पत्नी वां वीं वूं वागधीश्वरी।
क्रां क्रीं क्रूं कालिका देवी, शां शीं शूं में शुभं कुरू।

विधि: इस मंत्र का जाप करनें के लिए इच्छुक व्यक्ति को काली माता की मूर्ति अथवा चित्र पर पुष्प माला अर्पण कर के और दीप जलाकर देवी मां का मन में ध्यान करना चाहिए। इस मंत्र का जाप लगातार 108 बार और 28 से 43 दिनों तक करने से घर में शांति का वास होता है।

शादी में आ रही अड़चनों को दूर करने का मंत्र
मंत्र: हे गौरी शंकराद्वांगि यथा त्व शंकरप्रिया। तथा मां कुरू कल्याणि कांतकांता सुदुर्लभाम्।

विधि: इस मंत्र का जाप लड़का या लड़की की शादी में आ रही रूकावटों को दूर करने के लिए ​किया जाता है। इसके लिए सुबह प्रात: स्नान करने के बाद भगवती पार्वती के चित्र के सामने पुष्प माला अर्पण कर के और दीप जलाकर लड़की या लड़के को 40 दिनों तक लगातार 22 माला का जाप करना चाहिए।

हर सोमवार अपनी राशि के अनुसार शिव को चढ़ाएं यह सामग्री, मिलेगी मनचाही खुशियां

भयनाशक मंत्र
मंत्र: ओम ऐं हरीं हनुमते रामदूताय नम:

विधि: इस मंत्र का जाप भय को भगाने या लगातार आ रहे डरावने सपनों को दूर रखने के लिए किया जाता है। इसके लिए हनुमान जी के किसी भी बलशाली चित्र के सामने एकांत स्थान पर बैठ कर 108 बार इस मंत्र का जाप करें। इससे आपके अंदर आत्मविश्वास आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *